Which is most toughest exam of world and india is it upsc cse jee advanced or GATE Gaokao of china tops the list

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

Toughest Exam Of The World: परीक्षा ही वो माध्यम होती है जिसके जरिये किसी खास क्षेत्र में कैंडिडेट की काबलियत परखी जाती है. स्टूडेंट लाइफ में हर कोई किसी न किसी एग्जाम का हिस्सा बनता है. इनमें से कुछ पेपर तो सभी के लिए होते हैं और कुछ खास होते हैं जिन्हें चुनिंदा कैंडिडेट्स ही सेलेक्ट करते हैं. ऐसे ही होते हैं दुनिया के कुछ सबसे कठिन माने जाने वाले एग्जाम, जिन्हें हर कोई नहीं देना चाहता. इनमें सफलता का प्रतिशत कम, डिफिकल्टी लेवल ज्यादा और कैंडिडेट्स की संख्या बहुत ज्यादा होती है. आज जानते हैं दुनिया के कुछ ऐसे ही एग्जाम्स के बारे में जो सबसे कठिन माने जाते हैं.

क्या यूपीएसससी सीएसई है टॉप पर?

आपको ये जानकर हैरानी होगी लेकिन दुनिया के सबसे कठिन एग्जाम की लिस्ट में यूपीएससी टॉप पर नहीं बल्कि तीसरे नंबर पर है. इससे पहले दूसरे स्थान पर इंडिया का ही एक एग्जाम है जो यूपीएससी सीएसई से भी ज्यादा डिफिकल्ट माना जाता है. हर साल लाखों कैंडिडेट्स इस एग्जाम में बैठते हैं लेकिन ये दुनिया की सबसे कठिन परीक्षा नहीं है. कौन है टॉप पर जानते हैं.

नेशनल कॉलेज एंट्रेंस एग्जाम

नेशनल कॉलेज एंट्रेंस एग्जाम (NCEE), जिसे गाओकाओ के नाम से जानते हैं, को दुनिया का सबसे कठिन एग्जाम माना जाता है. ये परीक्षा चाइना में आयोजित होती है और हाईस्कूल फाइनल ईयर के स्टूडेंट्स के लिए कंडक्ट की जाती है. इसे पास करने के बाद उन्हें कॉलेज में प्रवेश मिलता है. ये एक नेशनल लेवल का एग्जाम है जो दो दिन और 9 घंटे चलता है. इसमें हर साल करीब 12 मिलियन यानी 1 करोड़ बीस लाख स्टूडेंट्स भाग लेते हैं.

इस परीक्षा को वहां बहुत अहमियत दी जाती है. जो ये एग्जाम पास कर लेते हैं उनके लिए न केवल एकेडमिक्स के दरवाजे खुलते हैं बल्कि शादी-ब्याह के बढ़िया प्रपोजल भी आते हैं.

जेईई एडवांस्ड

इस लिस्ट में दूसरा नाम इंडिया के ही एक एग्जाम का है पर वो यूपीएससी सीएसई न होकर जेईई एडवांस्ड है. जेईई मेन्स परीक्षा पास करने वाले टॉप 2.5 लाख स्टूडेंट्स जेईई एडवांस्ड एग्जाम दे सकते हैं. ये परीक्षा तीन घंटे की होती है और करीब डेढ़ से दो लाख कैंडिडेट्स हर साल इसे देते हैं. इस परीक्षा को पास करने के बाद देश की प्रतिष्ठित आईआईटीज में अंडर ग्रेजुएट प्रोग्राम में कैंडिडेट्स को एडमिशन मिलता है. ये एग्रीकल्चर, इंजीनियरिंग, आर्किटेक्चर, साइंस वगैरह में डिग्री लेते हैं.

यूपीएससी सीएसई

तीसरे नंबर पर आता है यूपीएससी सीएसई. इसमें हर साल करीब 10 से 11 लाख कैंडिडेट बैठते हैं जिनकी छंटनी प्री परीक्षा में ही हो जाती है. इसे पास करने के बाद देश के प्रतिष्ठित पद आईएएएस, आईपीएस पर कैंडिडेट्स नियुक्त होते हैं. यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन हर साल इस परीक्षा का आयोजन कराता है और ये दुनिया के सबसे कठिन एग्जाम्स में से एक है. इसका पास प्रतिशत काफी कम है. शुरुआती लेवल पर 10 लाख कैंडिडेट तक बैठते हैं और अंत में चयन 800 से 1000 सीटों पर ही होता है.

ये हैं लिस्ट के बाकी नाम

इन तीनों के बाद जो एग्जाम सबसे कठिन माने जाते हैं, वे इस प्रकार हैं – गेट (इंडिया), जीआरई (पूरी दुनिया में मान्य), मास्टर सोमिलियर डिप्लोमा (यूएसए), आईसीएआई सीए एग्जाम (इंडिया), सीसीआई (यूएसए), मेन्सा इंटरनेशनल (पूरी दुनिया में मान्य), सीएफए (पूरी दुनिया में मान्य). 

यह भी पढ़ें: सैनिक स्कूल प्रवेश परीक्षा के नतीजे घोषित, यहां से करें चेक 

Education Loan Information:
Calculate Education Loan EMI

Rate this post

About The Author

Scroll to Top
हमें शेयर बाजार में निवेश क्यों करना चाहिए 10 कारण जानें