Students america higher studies passport visa documents

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

 

अमेरिका में पढ़ने वाले विदेशी स्टूडेंट्स की संख्या में भारत टॉप पर है. हर साल भारत से हजारों-लाखों स्टूडेंट्स ग्रेजुएशन और मास्टर्स के लिए अमेरिका जाते हैं. यह जानकारी उन छात्रों के लिए है जो USA जाकर पढ़ाई करने का प्लान कर रहे हैं.

अमेरिका जाने के लिए हमें क्या डॉक्यूमेंट चाहिए

अमेरिका जाने की तैयारी करते समय स्टूडेंट्स ध्यान रखें कि उनके पास सभी जरूरी दस्तावेज हों. जरूरी दस्तावेजों में पासपोर्ट, वीजा, आपके सभी दस्तावेजों की कई फोटोकॉपी, I-20 फॉर्म, हाई स्कूल मार्कशीट, डिग्री प्रमाण पत्र, अंग्रेजी दक्षता परीक्षा स्कोर, एडमिशन लेटर और फ्लाइट के दस्तावेज आदि शामिल हैं.

आप अपने विश्वविद्यालय से एक चेकलिस्ट प्रदान करने के लिए भी कह सकते हैं. सेमेस्टर के लिए नामांकन से पहले उन्हें आवश्यक दस्तावेजों की आवश्यकता होगी. इसके अलावा मेडिकल रिकॉर्ड्स, हेल्थ इंश्योरेंस डॉक्यूमेंट्स भी ध्यान से रख लें. 

अमेरिका की पढ़ाई के पैटर्न को भी समझें

आप अमेरिका में पढ़ाई करने जाने की तैयारी कर रहे हैं तू पढ़ाई के पैटर्न को भी समझें. अमेरिका में उच्च शिक्षा क्षेत्र को चार श्रेणियों में बांटा जा सकता है एसोसिएट डिग्री (एए, एएस, एएएस., स्नातक डिग्री, मास्टर डिग्री और पीएचडी. या डॉक्टरेट की डिग्री. प्रत्येक स्तर को पास करने के लिए अलग-अलग क्रेडिट आवश्यकताएं होती हैं. एक क्रेडिट प्रणाली है जो छात्रों को अपने सिलेबस के दौरान विभिन्न विषयों को चुनने की परमिशन देता है.

छात्रों को प्रत्येक सेमेस्टर के अंत में उनके प्रदर्शन के आधार पर क्रेडिट मिलते हैं. एक सेमेस्टर लगभग 30 क्रेडिट का होगा. ज्यादातर विश्वविद्यालयों को स्नातक यानी ग्रेजुएशन की डिग्री के लिए कुल 120-130 क्रेडिट और मास्टर्स डिग्री के लिए हर एक सेमेस्टर में कुल 30-64 क्रेडिट की आवश्यकता होती है. सभी विश्वविद्यालयों में आवेदन की आवश्यकताएं अलग-अलग हो सकती हैं.

अमेरिकी स्टूडेंट्स वीजा तीन प्रकार के होते हैं

अमेरिका विदेशी स्टूडेंट्स के लिए तीन प्रकार के वीजा देता है. 
एफ-1 वीजा – अमेरिका की ओर से एकेडमिक स्टडीज के लिए  एफ-1 वीजा दिया जाता है. यह उन कोर्सेज के लिए दिया जाता है जिनमें स्टूडेंट्स प्रैक्टिकल ट्रेनिंग करते हैं. 
जे-1 वीजा – यह उन कोर्सेज के लिए दिया जाता है जिनमें स्टूडेंट्स प्रैक्टिकल ट्रेनिंग करते हैं. 
एम-1 – अगर आप professional studies करना चाहते हैं तो यह वीज़ा है.

आपके वीज़ा प्रकार के आधार पर, आपको एक अंतरराष्ट्रीय छात्र स्वास्थ बीमा योजना भी खरीदना होगा.

Education Loan Information:
Calculate Education Loan EMI

Rate this post

About The Author

Scroll to Top
हमें शेयर बाजार में निवेश क्यों करना चाहिए 10 कारण जानें