भरतपुर के निश्चल मित्तल ने IES परीक्षा में किया इंडिया टॉप, बताया जॉब के साथ कैसे की पढ़ाई


<p class="whitespace-pre-wrap">संघ लोक सेवा आयोग (<a title="UPSC" href="https://www.abplive.com/topic/upsc" data-type="interlinkingkeywords">UPSC</a>) ने हाल ही में इंडियन इकोनॉमिक्स सर्विस (IES) 2023 परीक्षा के परिणाम घोषित किए हैं. इस परीक्षा में भरतपुर, राजस्थान के रहने वाले निश्चल मित्तल ने ऑल इंडिया रैंक 1 हासिल की है. मित्तल फिलहाल मुंबई स्थित स्विस बैंक में ऑथराइज्ड ऑफिसर के पद पर कार्यरत हैं. IES परीक्षा में टॉप रैंक हासिल करने वाले मित्तल ने एक नया कीर्तिमान स्थापित किया है. उन्होंने अपनी मेहनत और लगन से यह बड़ी उपलब्धि हासिल की है. आने वाले समय में देश की आर्थिक सेवाओं में उनका योगदान बहुमूल्य साबित होगा. यह स्वयं के लिए तो बड़ी उपलब्धि है ही, साथ में उन्होंने अपने परिवार और पूरे कस्बे का नाम भी रोशन किया है</p>
<p class="whitespace-pre-wrap"><strong>जानें नौकरी से साथ कैसे की तैयारी&nbsp;<br /></strong>निश्चल मित्तल के ऑल इंडिया टॉपर बनने से उनके परिवार और दोस्तों के साथ-साथ पूरे बयाना कस्बे में खुशियों का माहौल है. निश्चल ने दिल्ली स्कूल ऑफ इकॉनॉमिक्स से अर्थशास्त्र में स्नातकोत्तर किया था. इसके बाद उन्होंने नेट-जेआरएफ क्वालीफाई किया था.&nbsp;निश्चल ने बताया कि उन्होंने नौकरी के साथ-साथ समय निकाल कर परीक्षा की तैयारी की. शुरू से ही उनकी रुचि अर्थशास्त्र में थी, इसलिए उन्होंने आईईएस अधिकारी बनने का सपना देखा. तैयारी में ग्रुप स्टडी और ऑनलाइन कंटेंट से भी मदद मिली.&nbsp;निश्चल की मेहनत रंग लाई और उन्होंने अपने सपनों को साकार कर दिखाया.यह स्वयं के लिए तो बड़ी उपलब्धि है ही, साथ में उन्होंने अपने परिवार और पूरे कस्बे का नाम भी रोशन किया है.&nbsp;</p>
<p class="whitespace-pre-wrap"><strong>इलेक्ट्रॉनिक्स दुकानदार का बेटा बना आईईएस अधिकारी<br /></strong>निश्चल के पिता शशि मित्तल बयाना कस्बे में एक इलेक्ट्रॉनिक्स की दुकान चलाते हैं, जबकि माता कुसुम मित्तल गृहिणी हैं. निश्चल ने अपनी मेहनत और लगन से एक आम परिवार के बेटे के रूप में इतिहास रच दिया है. उनकी इस बड़ी सफलता पर पूरा परिवार गर्व महसूस कर रहा है.&nbsp;निश्चल ने साबित कर दिया है कि कठिन परिस्थितियों में भी कड़ी मेहनत और लगन से कोई भी सपना साकार किया जा सकता है. वे आने वाली पीढ़ी के लिए एक प्रेरणास्रोत बन गए हैं.&nbsp;</p>
<p class="whitespace-pre-wrap"><strong>निश्चल के माता-पिता और बहन ने जताई खुशी<br /></strong>निश्चल के पिता शशि मित्तल ने बताया कि निश्चल बचपन से ही बहुत होशियार और तेज बच्चा था. उसे छोटी उम्र से ही पढ़ाई का बहुत शौक था. आज हमें बेहद गर्व महसूस हो रहा है कि हमारा बेटा पूरे देश में प्रथम स्थान पर रहा.&nbsp;वहीं निश्चल की बहन ने बताया कि वह बचपन में काफी शरारती लेकिन साथ ही मेहनती भी था. वह लोगों की भी मदद करता था. आज हमें बहुत गर्व महसूस हो रहा है कि हमारे भाई ने ऐसी बड़ी उपलब्धि हासिल की है.&nbsp;</p>
<p class="whitespace-pre-wrap"><strong>यह भी पढ़ें:&nbsp;<a title="दिल्ली में होमगार्ड के दस हजार से ज्यादा पदों पर निकली भर्ती&nbsp;" href="https://www.abplive.com/education/jobs/delhi-home-guard-recruitment-2024-for-10285-posts-registration-to-begin-tomorrow-24-jan-at-dghgenrollment-in-2593097" target="_blank" rel="nofollow noopener">दिल्ली में होमगार्ड के दस हजार से ज्यादा पदों पर निकली भर्ती&nbsp;</a></strong></p>

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!
Rate this post

About The Author

Scroll to Top
हमें शेयर बाजार में निवेश क्यों करना चाहिए 10 कारण जानें